Tu Hai To Mujhe Phir Aur Kya Chahiye Lyrics - Arijit Singh


Singer Arijit Singh
Music Sachin- Jigar
Song Writer Amitabh Bhattacharya

Tu Hai To Mujhe Phir Aur Kya Chahiye Lyrics


Badle Tere Mahi
La Ke Jo Koi Sari
Duniya Bhi De De Agar To
Kise Duniya Chahiye

Tu Hai To Mujhe
Phir Aur Kya Chahiye
Tu Hai To Mujhe
Fir Aur Kya Chahiye

Kisi Ki Na Madad
Na Dua Chahiye
Tu Hai To Mujhe
Phir Aur Kya Chahiye

Sun Haniye Jind Janiye
Sau Bar Janam Lu
To Bhi Tu Hi
Humdum Har Dafa Chahiye

Tu Hai To Mujhe
Phir Aur Kya Chahiye
Tu Hai To Mujhe
Phir Aur Kya Chahiye


Tu Hi Re Tu Hi Re
Tu Hi Re Ni Hiriye
Tu Hi Re Tu Hi Re
Tu Hi Re Ni Hiriye
Tu Meri Main Hun Tera Ranjha

Tu Hi Re Tu Hi Re
Tu Hi Re Ni Hiriye
Tu Hi Re Tu Hi Re
Tu Hi Re Ni Hiriye
Tu Meri Main Hun Tera Ranjha

Ho Jab Tak Teri Nind Na Tute
Ugta Nahi Hai Sooraj Mera
Jab Tak Teri Nind Na Tute
Ugta Nahi Hai Sooraj Mera

Khwab Rahe Kis Kam Ke Mere
Khwab Se Pyara Tu Sach Mera
Sun Haniye Jind Janiye
Zakhmon Ko Mere Marham Ki Jagah
Bas Tera Chua Chahiye

Tu Hai To Mujhe
Fir Aur Kya Chahiye
Tu Hai To Mujhe
Fir Aur Kya Chahiye

Kisi Ki Na Madad
Na Dua Chahiye
Tu Hai To Mujhe
Fir Aur Kya Chahiye

Tu Hi Re Tu Hi Re
Tu Hi Re Ni Hiriye
Tu Hi Re Tu Hi Re
Tu Hi Re Ni Hiriye
Tu Meri Main Hun Tera Ranjha


Tu Hi Re Tu Hi Re
Tu Hi Re Ni Hiriye
Tu Hi Re Tu Hi Re
Tu Hi Re Ni Hiriye
Tu Meri Main Hun Tera Ranjha

Badle Tere Mahi
Laa Ke Jo Koi Sari
Duniya Bhi De De Agar To
Kise Duniya Chahiye

Tu Hai To Mujhe Phir Aur Kya Chahiye Lyrics In Hindi


बदले तेरे माही
ला के जो कोई सारी
दुनिया भी दे दे अगर तो
किस दुनिया चाहिए

तू है तो मुझे
फिर और क्या चाहिए
तू है तो मुझे
फिर और क्या चाहिए

किसी की ना मदद
ना दुआ चाहिए
तू है तो मुझे
फिर और क्या चाहिए

सुन हानिये जींद जाणिये
सौ बार जनम लू
तो भी तू ही
हमदम हर दफा चाहिए

तू है तो मुझे
फिर और क्या चाहिए
तू है तो मुझे
फिर और क्या चाहिए

तू ही रे तू ही रे
तू ही रे नी हिरिये
तू ही रे तू ही रे
तू ही रे नी हिरिये
तू मेरी मैं हूं तेरा रांझा


तू ही रे तू ही रे
तू ही रे नी हिरिये
तू ही रे तू ही रे
तू ही रे नी हिरिये
तू मेरी मैं हूं तेरा रांझा

हो जब तक तेरी निंद ना टुते
उगा नहीं है सूरज मेरा
जब तक तेरी निंद न तूते
उगा नहीं है सूरज मेरा

ख्वाब रहे किस काम के मेरे
ख्वाब से प्यारा तू सच मेरा
सुन हानिये जींद जाणिये
ज़ख्मोन को मेरे मरहम की जगह
बस तेरा चुआ चाहिए

तू है तो मुझे
फिर और क्या चाहिए
तू है तो मुझे
फिर और क्या चाहिए

किसी की ना मदद
ना दुआ चाहिए
तू है तो मुझे
फिर और क्या चाहिए

तू ही रे तू ही रे
तू ही रे नी हिरिये
तू ही रे तू ही रे
तू ही रे नी हिरिये
तू मेरी मैं हूं तेरा रांझा

तू ही रे तू ही रे
तू ही रे नी हिरिये
तू ही रे तू ही रे
तू ही रे नी हिरिये
तू मेरी मैं हूं तेरा रांझा


बदले तेरे माही
ला के जो कोई साड़ी
दुनिया भी दे दे अगर तो
किस दुनिया चाहिए



Previous Post Next Post
close